Online Registration Forms are now available last date is : 30-08-2019


Admission Open

For courses in Education,Arts,Commerce,Science.

1. B.SC.(SCIENCE)

2. B.COM.(COMMERCE)

3. B.A.(ARTS)

4. DIPLOMA(B.ED)

5. University course

6. Goverment Course

Student Notice Board

    1. Hello

    2. Online Admission start for B.A

Management Details

माँ महारानी देवी कान्हीलाल शाक्य जनकल्याण आध्यात्मिक ट्रस्ट

1. श्री कान्ही लाल शाक्य [ अध्यक्ष ]

2. श्री गिरन्द सिंह शाक्य [सचिव ]

3. डॉ एन० पी० सिंह [ प्राचार्य ]

UG Course


We provide various Under-Graduate Courses

BACHLOR OF ARTS (B.A)

BACHELOR OF SCIENCE (B.Sc.)

BACHELOR OF COMMERCE (B.Com)

PG Courses


We are also providing Post graduate Courses in our college.

MASTER OF ART (M.A)

MASTER OF SCIENCE (M.Sc.)

University Course


We are also providing professional All university Courses.

B. Ed.

BTC

Goverment Courses


We also provide goverment authorized courses & certification for all student.

About the Mahabodhi Mahavidyalaya

Vision & Mission

प्रथम उद्देश्य : आंचलिक उच्च शिक्षा की कमी को दूर कर छात्र एव् छात्राओं का सर्वांगीण विकास करना
मुख्य उद्देश्य : जाति , वर्ग में धर्म आदि के भेदभाव से रहित छात्र एव् छात्राओं को उच्च शिक्षा प्रदान करना
मुख्य उद्देश्य : विश्व बंधुत्व की भावना का विकास करते हुए समाज और राष्ट्र की सेवा के लिए गौरवशाली नागरिक बनाना

College History

सन 2009 - 10 में महाविद्यालय में परीक्षा केंद्र के लिए शाक्य जी ने अथक प्रयास किया ! परिणामत ११ मार्च 2010 को परीक्षा केंद्र स्वीकृति पत्र कुलपति महोदय डॉ भीम राव अम्बेडकर विश्वविद्यालय , आगरा द्वारा मिला | 512 छात्र / छात्राओं से यहाँ परीक्षा केंद्र बना तथा 1 मई 2010 से महाविद्यालय में प्रथम परीक्षा की शुरुआत हुई

College Buiding

भवन : महाविधिलाया का भवन क़स्बा कुसमरा से 1 किलोमीटर दूर मैनपुरी रोड पर शान्त वातावरण में स्थित है | हवादार विशाल कमरों के साथ विषय बार अलग अलग कक्ष आबंटित है जो की भिभिन्न परिवर्तनों क मध्य अपनी गरिमा को शाशवत बनाये रखते है |

Other Facility

पुस्तकालय कक्ष : महाविद्यालय में स्वीकृत संकायों के सभी विषयो हेतु विद्वान लेखकों की पुस्तके छात्रों के ज्ञानार्जन के लिए उपलब्द है तथा समाचार पत्र एव सामन्य ज्ञान पत्रिका भी उपलब्ध रहती है !